Incognito मोड या प्राइवेट ब्राउज़र आखिर कितना प्राइवेट है

0
153

‌दोस्तों आज की बड़ती टेक्नोलॉजी और जिओ की मदत से हर किसी के हाथ में इन्टरनेट आ गया है!  इन्टरनेट हमारी बेसिक जरूरत बनती जा रही है! अब ये कहना कोई गलत नहीं लगता की एक इंसान की बेसिक जरुरत रोटी कपडा माकन के साथ इन्टरनेट भी हो गयी है!

इन्टरनेट हमारे लिए आखिर कितना सेफ है:-

Incognito मोड या प्राइवेट ब्राउज़र आखिर कितना प्राइवेट हैदोस्तों हम इन्टरनेट की सहयेता से बहोत से ऐसे काम करते है! इसके क्या फायेदे है ये तो हम सभी को पता है! लकिन दोस्तों इसके बहुत से नुक्सान भी है! कोई हम पे नजर रख सकता है और हमे पता भी नहीं चलेगा! ऐसे काम जो हमे गोपनीय करने होते है जैसे बैंक खातो की जानकारी और बहुत से ऐसे काम जो हम चाहते है! की उन्हें करते हुए कोई हमपे नजर न रख सके!

इसके लिए दोस्तों हमे जरुरत पड़ती है! प्राइवेट ब्राउज़र या अगर आप गूगल का क्रोम ब्राउज़र प्रयोग करते है तो  उसमें incognito मोड होता है! जिस की सहायता से हम सेफली और प्राइवेटली अपना काम कर सकते है! लकिन दोस्तों आप ये मत समझ बेठना की आप पर कभी कोई नजर नहीं सकता!

Incognito मोड या प्राइवेट ब्राउज़र आखिर कितना प्राइवेट हैIncognito मोड या प्राइवेट ब्राउज़र आखिर कितना प्राइवेट है:-

प्राइवेट ब्राउज़र का नाम सुनके हमी एसा लगता है की हम तो इन्टरनेट की दुनिए में अलग हो गया अब चाहे हम कुछ करे हमे कोई नहीं देख सकते है कोई पकड़ नहीं सकता! एसा बिलकुल नहीं है दोस्तों प्राइवेट ब्राउज़र और incognito मोड सिर्फ थर्ड पार्टी से आप को प्राइवेट रखती है! अगर आपका isp (internet service provider) चाहे तो बो आपके उपर नजर रख सकते है, क्यूंकि जो भी रिक्वेस्ट आप नेट में डालेंगे बो isp के सर्वर से होक जाएगा तो उन्हें पता चला जाता है की आप क्या ब्राउज कर रहे थे!

अगर आप एसा कोई काम कर रहे जो इल्लीगल है तो सरकार भी आपके उपर नजर रख सकती है! आपकी एक्टिविटी की पुरु जानकारी हासिल कर सकती है! इसलिए दोस्तो प्राइवेट ब्राउजर का नाम सुनकर ही ये मत समझह बेठना की आप उसपे कुछ भी कर सकते है! प्राइवेट ब्राउज़र और incognito को अपनी सेफ्टी के लिए यूज़ करे गलत काम करने के लिए नहीं! Be Safe 🙂

 

Truecaller ki puri jankari hindi mein payein

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here