Future mein use hone baale password, BIO matrices list!

बायो मैट्रिक्स का सिक्योरिटी के लिए प्रयोग आज हम सभी किसी न किसी तरह से इसका इस्तेमाल करते है ! चाहे फिर बो  हमारे मोबाइल को unlock करने के लिए फिंगरप्रिंट सेंसर, रेटिना सकैनर, या हो फिर फेसडीटेक्शन ! बियोमैट्रिक्स सबसे सिक्योर माना जाता है क्योंकि हमारे बॉडी के पार्ट्स की पहचान सबसे अलग होती है! किसी दूसरे व्यक्ति से मैच नही करती फिर चाहे बो फिंगरप्रिंट हो, रेटिना हो या अन्य!

अगर हम किसी डिवाइस या किसी स्थान को शुरक्षित करना चाहते है ! हमारे उस रेस्ट्रिक्ट एरिया में हमारी इजाजत के बिना न आ जा सके तो इसके लिए बायो मैट्रिक्स का प्रयोग बेहतरीन विकल्प होता है! क्योंकि यह सबसे विश्वशनीय है ! बायो मैट्रिक्स की बहुत लंबी लिस्ट है! आपको आज बताने बला हूँ, फ्यूचर में प्रयोग होने बाले बायो मैट्रिक्स पासवर्ड के बारे में !

Future mein use hone baale password, BIO matrices list!

हैंड स्कैनिंग :-

पाम या हैंड स्कैनिंग फिंगर स्कैनिंग की तरह ही काम करती है ! इसमें हमे पुरे हाथ को स्कैन करना होता है और यह हमारे हाथ के साइज को शेप को और जो हमारे हाथों में रेखाएं होती है! उन्हें स्कैन करता है जो की हम सब की अलग अलग होती है ! इसलिए यह फिंगर स्कैनिंग से भी सिक्योर माना जाता है ! आपने इसे शायद फिल्मो में जररु से देखा ही होगा !

ब्रेन वेव्स :-

इसको समझाना थोड़ा मुशिका हो सकता है पर इतना मुश्किल है नहीं ! में आपको आसान भाषा में बताऊ तो जब भी हम सोचते है या हमे कोई स्पेसिफिक ऑब्जेक्ट दिखाई देता है तो उस समय हमारे दिमाग में जो प्रॉसेसिंग होती है उस थॉट को लेकर बो एक वेव्स के रूप में होती है, ये जो ब्रेन वेव्स थॉट प्रॉसेसिंग के समय उत्पन होती है ये सभी की अलग होती है इसलिए हम इसको मेजर करके सिक्योरिटी के लिए इस्तेमाल कर सकते है !

vein scaning :-

आपको सुनके आश्चर्य होगा की क्या हम अपनी शरीर के किसी पार्ट की नसों को स्कैन करके पासवर्ड की तरह उस कर सकते है ! हम इंफ्रारेड लाइट की मदत से अपने शरीर के किसी पार्ट को स्कैन कर सकते है और यह नसें (veins ) जो होती है यह भी सभी की अलग अलग होती है ! अगर आप के पास यह स्कैनर होता तो आप अपने शरीर के किस पार्ट को पासवर्ड बनाते !

ear scaning :-

क्या आप जानते है जो आपके कान का डिज़ाइन, शेप है और जिस तरह से आपका कान दीखता है उस तरह कान आपको पूरी दुनिया में किसी का देखने को नहीं मिलेगा इसलिए हम ear को स्कैन करके उसको पासवर्ड की तरह इस्तेमाल कर सकते है !

हार्ट बीट स्कैनिंग :-

मैंने इसके बारे में इससे पहले भी एक आर्टिकल लिखा था ! हम सभी की हार्ट बीट का जो पैटर्न होता है बह बाकी सभी से अलग होता है तो हम अपनी हार्ट बीट को स्कैन करके पासवर्ड की तरह इस्तेमाल कर सकते है !

voice recognition :-

इसके बारे में तो हम सब मेरे ख्याल से जानते है ! इसमें आपकी वौइस् को मैच जाता है अगर आपकी वौइस् मैच हो जाती है तो आपको एक्सेस मिलजाता है !

क्या पर्सनल डेटा के बदले में शॉपिंग कर सकते है ?

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

7 More posts in Latest Technology category
Recommended for you
MicroLED Display Technology
MicroLED Display Technology kya hai detail mein jane (MicroLED vs OLED)

MicroLED Display Technology kya hai detail mein jane (MicroLED vs OLED): SEC - 2018 में...